Tuesday, February 28, 2012

कितने तलख अंदाज़ होते हैं तन्हायी के

कितने तलख अंदाज़ होते हैं तन्हायी के
पल-पल टीस देता है बन नोक-ए-खंज़र ।

__________________हर्ष महाजन