Sunday, March 23, 2014

हे अर्जुन ! --- व्यंग

… 

व्यंग
_____


हे अर्जुन !
नारित्व का
इतना बड़ा अपमान ?
अपनी ही पत्नी को.
बाँट लिया,
पाँचों भाईयों में,
एक समान ?



___हर्ष महाजन