Saturday, November 3, 2012

मैं अक्सर अरमानों को जब बटोर लाता हूँ जिनके लिए

...

मैं अक्सर अरमानों को जब बटोर लाता हूँ जिनके लिए ,
वो दिल में मुसलसल चुबो जाते हैं हाथों में तिनके लिए |

______________________हर्ष महाजन