Tuesday, August 6, 2013

तेरी यादों में मेरे अश्क बिखर जाने दे

...

तेरी यादों में मेरे अश्क बिखर जाने दे ,
छोड़ के दरिया समंदर में उतर जाने दे |
मेरे शेरों में रहे क़ैद सदा बन के ग़ज़ल ,
अभी तू आँखों से दिल का है सफ़र जाने दे |

__________हर्ष महाजन