Thursday, September 5, 2013

लकीरें हाथों की नसीबा पे असर रखती हैं

....

लकीरें हाथों की नसीबा पे असर रखती हैं ,
पाँव खाए है जो  ठोकर वो खबर रखती है |
तू संभलकर जो चलेगा ये मुकद्दर ही सही,
ज़िन्दगी उसकी अमानत है उधर रखती है |

____________हर्ष महाजन