Wednesday, April 18, 2012

किस तरह छायी हो "मेरे दुश्मनों" में तुम

..

किस तरह छायी हो "मेरे दुश्मनों" में तुम
बताओ सज्जनों में हो के दुश्मनों में तुम
किस तरह कांटे से काँटा निकाल पाऊँगा मैं
सज्जनों में ढूंढता हूँ मैं और दुश्मनों में तुम ।

_______________हर्ष महाजन ।